अपना प्रदेश

विभागीय लापरवाही की भेंट चढ़ी IHSDP आवास योजना

चन्दौली। नगरपालिका परिषद क्षेत्र अंतर्गत वार्ड नम्बर 3 स्थित मुसहरान बस्ती में आई.एच.एस.डी.पी योजना के तहत 60 आवास आज तक विभागीय लापरवाही के वजह से अधूरा पड़ा हुआ है। जिला नगरीय विकास प्राधिकरण द्वारा वित्तपोषित 143.21 लाख रुपये के ये आवास गरीबों को आवंटित किए जाने थे। जिसके तहत प्रत्येक आवास में दो कमरे,किचेन,बाथरूम,लैट्रिन सहित मूलभूत सुविधायें मुहैया कराने की जिम्मेदारी कार्यदायी संस्था उत्तर प्रदेश राजकीय निर्माण निगम लिमिटेड की थी, जो अब तक पूरी नहीं हो पायी है।  

बताते चलें कि विभागीय लापरवाही के कारण अभी तक उक्त आवासों का पूरा निर्माण कार्य सम्पन्न नहीं हो सका है। जिस कारण लाभार्थियों को आवास वितरित नहीं किया जा सका है । बिल्डिंग तो बनकर तैयार हो चुकी है लेकिन उसमें दरवाजा, खिड़की, लाइट, पानी आदि की व्यवस्था नहीं किये जाने से पूरा आवास अधूरा पड़ा हुआ है।

इस बाबत परियोजना अधिकारी जिला नगरीय विकास प्राधिकरण(डूडा) संजय मौर्या ने बताया कि जिस कार्यदायी संस्था को कार्य पूर्ण कराने की जिम्मेदारी दी गयी थी। उसने भवन निर्माण तो करवा दिया है लेकिन उसमें मूलभूत सुविधाओं की व्यवस्था नहीं हो सकी है। इसलिए उसे आवंटित नहीं किया गया। कार्यदायी संस्था को पत्र लिखकर यथाशीघ्र पूरा कराने का निर्देश दे दिया गया है।जल्द ही पूरा कराकर उसे लाभार्थियों के बीच आवंटन की कार्रवाई की जाएगी।

8 वर्षों से लाखों की लागत से बनकर तैयार भवन का पूरा  कार्य सम्पन्न नहीं कराने के पीछे कौन दोषी है और किस कारण से आज तक यह पूरा नहीं हो सका इस सवाल का उन्होंने जबाब नहीं दिया। ऐसे में सवाल उठता है कि आखिर गरीबों के लिए सरकार की लाभकारी योजनाओं को पलीता लगाने के पीछे कौन जिम्मेदार हैं।

Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

Most Popular

To Top