अपना प्रदेश

आतंक का पर्याय बन चुके एक लाख के इनामी झुन्ना पंडित को पंजाब पुलिस ने किया गिरफ्तार

वाराणसी। पुलिस के गले की फांस बन चुके एक लाख के इनामिया अपराधी श्रीप्रकाश मिश्रा उर्फ झुन्ना पंडित को पंजाब पुलिस ने धर दबोचा है। रूपनगर थाना पुलिस ने गैंगस्टर झुन्ना पंडित को चिंतपूर्णी से दिल्ली लौटते हुए काहनपुर खुही के पास शुक्रवार की भोर में मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार कर लिया है।

झुन्ना पंडित का आपराधिक इतिहास
पूर्वांचल में आतंक का पयार्य बन चुका 24 वर्षीय झुन्ना पंडित बहुत कम समय में ही जरायम की दुनिया में अपनी मजबूत पकड़ बना चुका है। 16 साल के उम्र में ही झुन्ना पंडित ने पहला कत्ल कर जरायम की दुनिया में अपना कदम रख दिया था। इसके बाद उसे तीन साल के लिए जुवेनाइल जेल भेज दिया गया था। झुन्ना के खिलाफ कत्ल के 10 मामले अब तक दर्ज हैं। झुन्ना हत्या सहित कुल 20 फिरौती और अपहरण के मामलों में वांछित था। झुन्ना पर एक बीएसपी व एक भाजपा कार्यकर्ता की हत्या का भी आरोप है। इसके खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत भी मामला दर्ज हैंं। मिर्जापुर में ट्रिपल मर्डर केस में भी झुन्ना पंडित का हाथ था। हाल ही में वाराणसी के कैंट थाना क्षेत्र के लालपुर के मड़वा गांव में 3 सितम्बर 2019 को दिनदहाड़े झुन्ना पंडित ने दिव्यांग पान विक्रेता दिलीप पटेल (30 वर्ष) को गोलियों से छलनी कर दिया था,जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई थी। पहड़िया पर पाइप व्यापारी धर्मेन्द्र गुप्ता की हत्या के मामले में भी झुन्ना की संलिप्तता रही। पुलिस को काफी समय से झुन्ना की तलाश में जुटी हुई थी।

झुन्ना पंडित गिरोह के ये सदस्य चढ़ चुके पुलिस के हत्थे
इसके पूर्व झुन्ना पुडित की तलाश में जुटी वाराणसी पुलिस व क्राइम ब्रांच की टीम की मुठभेड़ 12 सितम्बर को ऐढ़े इलाके में झुन्ना पंडित गिरोह के दो सदस्यों से हुई थी। इस दौरान पुलिस ने झुन्न गिरोह के दो सदस्य 15000 रूपये के इनामी शैलेश पटेल व 25000 रूपये के इनामी बदमाश दीपक राजभर को गिरफ्तार कर लिया था। इसके ठीक दूसरे दिन ही पुलिस ने मुठभेड़ में झुन्ना पंडित गैंग के शॉर्प शूटर टुनटुन पटेल उर्फ नीरज पटेल को गिरफ्तार कर लिया था। इस दौरान एक बदमाश भागने में सफल रहा,जिसको लेकर कयास लगाए जा रहे थे कि वह झुन्ना पंडित ही था,जो अंधेरे का फायदा उठाकर पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया। इसके बाद झुन्ना पंडित गिरोह के शातिर बदमाश रवि पटेल को एसटीएफ लखनऊ की टीम ने 20 सितम्बर को अम्बेडकर नगर जिले के अहिरौली क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया था। 50 हजार के इस इनामी बदमाश के खिलाफ विभिन्न आपराधिक मामले दर्ज हैं।

झुन्ना के घर पर चस्पा हुआ था कुर्की का नोटिस
झुन्ना पंडित को पकड़ने के लिए पुलिस लगातार जगह जगह पर दबिश दे रही थी, लेकिन झुन्ना पंडित का कोई सुराग नहीं मिल पा रहा था। इसी बीच झुन्ना पंडित के सारनाथ स्थित घर के कुर्की का नोटिस कोर्ट ने जारी कर दिया था और पुलिस ने उसके घर पर 82 सीआरपीसी की नोटिस को चस्पा कर दिया गया। हालांकि इसको लेकर झुन्ना पंडित की मां ऊषा देवी ने अदालत में आख्या को लेकर अर्जी डाली थी,जिसमें ऊषा देवी ने कहा था कि सारनाथ पुलिस उसके बेटे झुन्ना पंडित को झूठे मुकदमे में फंसा रही है।

इन जगहों पर झुन्ना ने बनाया था अपना ठिकाना
वाराणसी पुलिस और क्राइम ब्रांच की सक्रियता को देखते हुए झुन्ना पंडित यूपी छोड़ दिल्ली भाग गया था। वह दिल्ली, राजस्थान, हरियाणा में अपनी पैठ मजबूत कर वहां अपने गैंग को बढ़ाने की फिराक में सक्रिय था कि इसी बीच रूपनगर पुलिस की सक्रियता से उसे धर दबोचा गया।

Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

Most Popular

To Top