देशव्यापी हड़ताल आज, कई बैंकों में काम रहेगा ठप

0
24

नई दिल्ली। बुधवार को साल 2020 का पहला भारत बंद का आह्वान किया गया है। श्रमिक संगठनों द्वारा इस बंद में 25 करोड़ लोगों के शामिल होने की संभावना जताई जा रही है, जिसमें 10 से ज्यादा सेंट्रल ट्रेड यूनियन,6 बैकिंग यूनियन और 60 से ज्यादा स्टूडेंट यूनियन शामिल हैं।

बता दें कि बंद में कई बैंक यूनियन के शामिल होने से बैंकिंग सेवाओं पर बहुत ज्यादा असर पड़ने की आशंका है। उधर केंद्र सरकार ने अपने कर्मचारियों को चेतावनी दी है कि यदि वे 8 जनवरी को हड़ताल में शामिल होते हैं तो उन्हें इसका नतीजा भुगतना पड़ेगा। श्रमिक संगठन द्वारा आह्वान भारत बंद का व्यापक असर पड़ने की आशंका जताई जा रही है। वहीं यूपी में लगभग 20 लाख लोगों की इस हड़ताल में शामिल होने की संभावना जताई जा रही है।

वहीं कार्मिक मंत्रालय की ओर से जारी आदेश में कर्मचारियों को चेतावनी देते हुए हड़ताल से दूर दूर रहने को कहा गया है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से संबद्ध भारतीय मजदूर संघ इस हड़ताल में शामिल नहीं है। यूनियनों ने अपनी 12 सूत्रीय मांगों के लिए यह हड़ताल बुलाई है। इसमें न्यूनतम वेतन और सामाजिक सुरक्षा जैसे मुद्दे शामिल है। सरकारी आदेश में कहा गया है कि यदि कोई कर्मचारी हड़ताल पर जाता है तो उसके वेतन काटने के अलावा उसके खिलाफ अनुशासनिक कार्यवाही भी की जाएगी।