अपना प्रदेश

कोरोना अपडेट: किसी के जिंदगी के साथ नही होगा कोई समझौता, वाराणासी DM ने लिया ये फैसला

वाराणसी। शहर में बढ़ते कोरोना मरीज और हॉट स्पॉट की संख्या में बढ़ोतरी को देखते हुए डीएम ने 20 अप्रैल से दी जाने वाली सभी छूट को कैंसिल कर दिया है। जिले में दस से अधिक कोरोना संक्रमित होने के कारण शासन ने लॉकडाउन के दौरान रविवार को निर्णय लिया कि जिन जिलों में 10 से अधिक कोरोना पॉजिटिव केस हैं वहां सहूलियत देने के संबंध में जिला प्रशासन निर्णय लेगा। इसी आधार पर जिला प्रशासन ने आवश्यक सेवाओं को छोड़कर अन्य सभी कार्यालयों को पूर्व की भांति बंद रखने और लॉकडाउन का कड़ाई से पालन करने की घोषणा किया है।

बता दें कि डीएम ने बताया कि सोमवार से शुरू होने वाले कार्यों और गतिविधियों के आदेशों पर फिलहाल रोक लगा दी गयी है। श्रम विभाग के तकनीकी कामगारों को मिली छूट पर भी फिलहाल रोक लगा दी गयी है। कहा कि इसके लिए श्रम विभाग के अधिकारियों को जल्द गाइड लाइन जारी की जाएगी। डीएम ने बताया कि शहर में पहले कोरोना के 9 केस थे लेकिन 17 अप्रैल को 5 और 18 अप्रैल को 1 केस और पॉजिटिव मिल जाने के बाद जिला संवेदनशील हो गया है। इस कारण पूर्व की भांति जिले में निषेधाज्ञा लागू रहेगी।

आवश्यक वस्तुओं की दुकानें, मंडी, पूर्व की समयावधि में खुलेंगी। इसी प्रकार दवा मंडी, राशन की दुकान, बैंक भी खुले रहेंगे। जो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करेगा उसकी दुकान सील कर दी जाएगी। कोई भी व्यक्ति घर से बाहर निकल कर कोई धार्मिक कार्य नहीं कर सकेगा। होम क्वारंटाइन और कोटा से आए छात्र बाहर नहीं निकल सकते। कोई भी व्यक्ति तभी बाहर निकलेगा जब उसके मोबाइल में आरोग्य सेतु एप डाउनलोड होगा। एप का यहीं नियम वैध पास के लिए भी होगा। एप नहीं होने पर पास अवैध माना जाएगा। आपदा तथा आवश्यक वस्तुओं से जुड़े कार्यालय जो पूर्व से खुले हैं वहीं खुलेेंगे। इसके अतिरिक्त, प्राइवेट ऑफिस,शिक्षण संस्थान, विद्यालय आदि नहीं खुलेंगे। किसी कार्यालय को जरूरत होगी तो वह मजिस्ट्रेट से अनुमति लेगा। अनुमति मिलने के बाद ही कार्यालय खुल सकेगा।

Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

Most Popular

To Top