अपना देश

कोरोना अपडेट: सामाजिक सरोकार निभा रहा है रिलायंस ग्रुप, आपदा से निपटने के लिए दिया बड़ा योगदान

मुंबई। इन दिनों पूरा देश कोरोना के दंश को झेल रहा है। इसी कड़ी में रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड भी कोरोना वायरस के खिलाफ इस जंग में आगे आई है। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) ने कोविड-19 के खिलाफ हमारी सामूहिक लड़ाई में राष्ट्र की सेवा में अपनी ड्यूटी 24 घंटे 7 दिन देने का संकल्प लिया है। आरआईएल ने पहले से ही एक बहु-आयामी और बहुस्तरीय रोकथाम, प्रभाव को न्यूनतम करने और जारी समर्थन रणनीति शुरू कर दी है जो कि व्यापक, सक्षम और सुविधाजनक है। यह दृष्टिकोण राष्ट्र के लिए जरूरी सेवाओं को आगे बढ़ाने में व्यापक स्तर पर सहायक साबित हो सकती है। इसी कड़ी में रिलायंस ने कई योजनाओं को मूर्त रूप देना शुरू कर दिया है जो निम्न हैं –

भारत का पहला डेडिकेटेड कोविड -19 हॉस्पिटल 2 सप्ताह के छोटे से वक्त में सर एचएन रिलायंस फाउंडेशन हॉस्पिटल ने बीएमसी के साथ मिलकर 7 हिल्स हॉस्पिटल, मुंबई में एक 100 बेडों वाला सेंटर स्थापित किया है। ये अस्पताल कोविड-19 पॉजिटिव मरीजों के लिए है।  यह भारत में अपनी तरह का पहला सेंटर है।  इसका पूरा  रिलायंस खर्च फाउंडेशन की ओर से है।  इस सेंटर में एक निगेटिव प्रेशर रूम भी है, जो क्रॉस कंटेमिनेशन को रोकने और इन्फेक्शन नियंत्रित करने में मदद करता है। सेंटर के सभी बेड जरूरी इंफ्रास्ट्रक्चर, बायो मेडिकल इक्विपमेंट जैसे वेंटिलेटर्स, पेसमेकर्स, डायलिसिस मशीन और पेशेंट मॉनिटरिंग डिवाइसेज से लैस हैं।

सर एचएन रिलायंस फाउंडेशन हॉस्पिटल ने ट्रैवलर्स और कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग से पहचाने गए संदिग्ध मरीजों के क्वारंटाइन के लिए स्पेशल मेडिकल फैसिलिटीज की भी पेशकश की है। इसके साथ ही रिलायंस फाउंडेशन विभिन्न शहरों में लोगों को मुफ्त खाना उपलब्ध कराएगी। इसके लिए एनजीओज के साथ साझेदारी की गई है। रिलायंस इंडस्ट्रीज ने महाराष्ट्र के लोधीवली में एक फुली इक्विप्ड आइसोलेशन फैसिलिटी तैयार की है और इसे जिला प्रशासन का सौंप दिया है। रिलायंस  लाइफ साइंसेज अतिरिक्त टेस्ट किट्स और कंज्यूमेबल्स को इंपोर्ट कर रही है। इसके डॉक्टर और रिसर्चर्स भी ओवरटाइम कर रहे हैं ताकि इस महामारी का इलाज ढूंढा जा सके।

रिल अपनी उत्पादन क्षमता को बढ़ाकर 1 लाख फेस मास्क प्रतिदिन करने पर काम कर रही है।  इसके अलावा पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट्स जैसे सूट, कपड़े आदि का भी प्रॉडक्शन बड़ी संख्या में करने पर काम कर रही है, ताकि देश के हेल्थ वर्कर्स को कोरोना से लड़ने में मदद की जा सके। रिल यह पहल भारतीय नागरिकों को अपने दोस्तों, परिवार, कलीग्स, बिजनेस आदि से सोशल डिस्टेंसिंग बनाए हुए कनेक्टेड व प्रोडक्टिव रहने में सक्षम बनाएगी। यह उन्हें रिमोट वर्किंग, रिमोट लर्निंग, रिमोट इंगेजमेंट और रिमोट केयर अलाउ करेगी। जियो अपनी डिजिटल क्षमताओं को माइक्रोसॉफ्टी टीम्स के साथ जोड़ रही है ताकि व्यक्तियों, छात्रों, शैक्षणिक व हेल्थकेयर इंस्टीट्यूशंस को उनकी सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन करते हुए उनकी प्रोफेशनल लाइफ जारी रखने में सक्षम बनाया जा सके।

इतना ही नहीं रिल अपने यूजर के लिए घर पर बैठकर कोरोना के लक्षण चेक करने में मदद करेगा साथ ही उन्हें कोरोना की स्थिति पर रियल टाइम अपडेट्स व सूचना भी देता रहेगा। जियो हेप्टिक ने कोरोना के लिए हेल्प डेस्क भी  यह भारत सरबनाया है। ये वॉट्सऐप चैटबोट है, जिस पर कोरोना वायरस से संबंधित सही जानकारी मिलेगी और अफवाह व गलत सूचना फैलने से रोकने में मदद होगी।  यूजर्स को फिजीशियंस व डॉक्टर्स के साथ कनेक्ट होकर घर पर ही रियल टाइम मेडिकल परामर्श मिलेगा। छात्र व अध्यापक वीडियो कॉलिंग से आगे क्लासरूम सेशन कर सकने, डॉक्युमेंट शेयर कर सकने आदि में सक्षम हो सकें। एक स्कूल ईयर के सभी लेसन्स के लिए फ्री स्टोरेज के साथ कम्युनिकेशन हब मिलेगा। फ्री स्टोरेज टीम्स व इंडीविजुअल्स दोनों के लिए होगा। वहीं यूजर्स को रिमोट ऑडियो व वीडियो मीटिंग्स, बातचीत, फाइल शेयरिंग, मीटिंग रिकॉर्डिंग, स्क्रीन शेयरिंग आदि में सक्षम बनाने का भी काम करेगी।

इसके अलावा जियोफाइबर, जियोफाई के जरिए जियो वर्ल्ड क्लास इंटरनेट जैसी सर्विस देगी। जियो 10 एमबीपीएस की बेसिक जियोफाइबर ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी बिना किसी सर्विस चार्ज के देगी।  साथ में मिनिमम रिफंडेबल डिपॉजिट के साथ होम गेटवे राउटर देगी। जियो फाइबर के सभी मौजूदा ग्राहकों को सभी प्लान्स में डबल डेटा मिलेगा। जियो अपने 4जी डेटा एड ऑन वाउचर्स पर डबल डेटा मुहैया कराएगी। बिना किसी अतिरिक्त लागत के इन वाउचर्स में नॉन-जियो वॉइस कॉलिंग मिनट जोड़ेगी। रिलायंस सभी इमर्जेन्सी सर्विस व्हीकल्स के लिए फ्री फ्यूल मुहैया कराएगी। यह पेशकश कोविड-19 मरीजों के लिए इस्तेमाल होने वाले व्हीकल और सरकारी एजेंसी द्वारा उपलब्ध कराई गई लिस्ट के अनुरूप व्हीकल्स के लिए है। आइसोलेशन व क्वारंटाइन लोग भी इसके तहत आएंगे।

देश में कोरोना को लेकर जरुरी सामानों की शॉर्टेज ना हो इसके लिए भी रिलायंस रिटेल के सभी 736 ग्रॉसरी स्टोर सभी जरूरी चीजों जैसे फल व सब्जी, ब्रेड और रोजमर्रा के इस्तेमाल के अन्य सभी आइटम्स की पर्याप्त सप्लाई सुनिश्चित करेंगी।  स्टोर जहां भी संभव हो, सुबह 7 बजे से रात 11 बजे तक खुलेंगे। सीनियर सिटीजन के लिए होम डिलीवरी होगी।  कंप्लीट लॉकडाउन के दौरान संबंधित इलाकों में डोर स्टेप डिलीवरी होगी। सभी रिटेल आउटलेट्स में हाइजीन प्रॉडक्ट्स व सैनेटाइजर्स सरकार द्वारा तय कीमत पर मिलेंगे। सभी मेट्रो रिटेल आउटलेट खुले रहेंगे। इन सब के बीच रिल कॉन्ट्रैक्ट व अस्थायी वर्कर्स को कामकाज प्रभावित होने के दौरान भी वेतन देगी।  30000 रुपये प्रतिमाह से कम कमाने वाले इंप्लॉइज को महीने में दो बार सैलरी भी देगी।

Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

Most Popular

To Top