अपना प्रदेश

कोरोना अपडेट: श्रमिकों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने को लेकर DM सख्त, दिया ये आदेश

वाराणसी। रोजाना आ रहे श्रमिकों और प्रवासियों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने के लिए वाराणसी डीएम 406 वाहनों की व्यवस्था की है। इसी के अंतर्गत केवल 37 बसें ही अब तक उपलब्ध हो पाई है। इस बाबत 369 वाहन स्वामियों ने अभी तक ना तो वाहन को उपलब्ध कराया और ना तो बारे लिखित सूचना दी। इन वाहन स्वामियों द्वारा वाहन न भेजे जाने के कारण वाराणसी कैण्ट रेलवे स्टेशन पर पब्लिक ऑर्डर छिन्न-भिन्न हुआ, लोगों में काफी असंतोष फैला, सरकारी कार्य में बाधा उत्पन्न हुई एवं साथ ही आपदा प्रबन्धन अधिनियम के अन्तर्गत किये गये अधिग्रहण आदेश का अनुपालन नहीं किया गया। वहीं सभी वाहन स्वामियों को 24 मई की रात्रि तक लिखित सूचना नहीं देने को लेकर  डीएम ने सख्त कार्रवाई करने की बात कही है।

बता दें कि लगातार आ रहे श्रमिक और प्रवासियों को उनके घर तक पहुंचने के लिए कैंट रोडवेज बसों के आलावा प्राइवेट बसों और छोटे वाहनों को डीएम ने वाहन स्वामियों को उपलब्ध कराने के लिए कहा था लेकिन कई वाहन स्वामियों ने अब तक उस निर्देश का पालन नहीं किया। वहीं डीएम  इस बात को गंभीरता से लेते हुए  सहायक सम्भागीय परिवहन अधिकारी अरूण कुमार राय द्वारा थाना बड़ागाँव में इन 369 बसों के वाहन स्वामियों के विरूद्ध आपदा प्रबन्धन अधिनियम 2005 की धारा-51 के अन्तर्गत कार्रवाई करने का निर्देश दिया है।

डीएम ने कहा है कि पब्लिक ऑर्डर छिन्न-भिन्न करने, लोगों में असंतोष फैलाने, सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने व आपदा प्रबन्धन अधिनियम के अधिग्रहण आदेश का अनुपालन न किये जाने के आरोप में प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज करायी जा रही है, जो आज ही 24 मई की देर रात्रि तक दर्ज करा दी जायेगी। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि वर्तमान हालात में कोविड-19 से प्रभावित लोगों की सहायता हेतु हर संभव प्रयास जिला प्रशासन द्वारा कराये जा रहे हैं एवं इस कार्य में किसी भी स्तर से शिथिलता व आदेश की अवमानना को प्रतिकूल संज्ञान लेते हुए सख्त कार्यवाही की जायेगी।

Most Popular

To Top