अपना देश

कोरोना अपडेट: ऐसे साइबर हमले से रहे सावधान, WHO ने दिया ये सलाह

ब्यूरो रिपोर्ट। तेजी से बढ़ते कोरोना वायरस के बीच पिछले 2 हफ्तों में दुनिया भर में इस खतरनाक वायरस से सबंधित कम से कम 4 लाख साइबर अटैक हुए हैं। जी हां, एक तरफ जहां इस खतरनाक कोरोना वायरस से पूरी दुनिया जंग लड़ रही है वहीं इसी से सबंधित कई साइबर हमलें भी हो रहे है। चेकप्वाइंट रिसर्च की एक एनालिसिस से मिली जानकारी के मुताबिक डब्ल्यूएचओ, यूनाइटेड नेशन, एमएस टीम और गूगल मीट जैसे नामों से लोगों को ठगा जा रहा है। इस महामारी के बीच पिछले 3 हफ्तों में कोरोना वायरस से संबधित करीब 20,000 डोमेन रजिस्टर किए गए है।

न सिर्फ भारत बल्कि पूरी दुनिया में इस वायरस से सबंधित डोमेन रजिस्टर किए गए हैं। अगर इन डोमेन को ध्यान से देखें तो पता चलता है कि इनमें से कम से कम 2 फीसदी ऐसे डोमेन है जो संदेह करने वाले हैं जबकि 1.5 फीसदी डोमेन आशंका पैदा करने वाले हैं। बता दें कि चेकप्वाइंट रिसर्च की एक एनालिसिस साइबर धोखाधड़ी से निपटने में मदद करने वाली कंपनी है।

जिस तेजी से कोरोना के मामलें बढ़ते जा रहे है वैसे ही कोरोना वायरस के इलाज से बचने और सावधानियों से मिलते -जुलते नाम के डोमेन की रजिस्ट्रेशन में भीबढ़ोतरी देखने को मिली है। वहीं ऐसे कई डोमेन नाम हैं जिससे लोग धोखे में आ कर इसे सच मान लेते है और फंस जाते है। ये नाम हैं पोस्ट कोरोना, कोरोना रिलीफ पेमेंट्स और कोरोना क्राइसिस।चेकप्वाइंट की रिसर्च यह भी कहती है कि 1 हफ्ते में कम से कम 2 लाख से ज्यादा कोरोना से सबंधित साइबर हमले किए गए हैं।

वहीं इसको गंभीर समस्या समझते हुए डब्ल्यूएचओ ने अपनी जांच तेज कर दी है। जिसके मुताबिक डब्ल्यूएचओ ने अपने ऑफिशियल ईमेल से लोगों को मेल भेजना शुरू किया है जिसमें लिखा होता हैं कि विश्व स्वास्थ्य संगठन की तरफ से आपको एक अर्जेंट लेटर भेजा जा रहा है। कोरोना की वैक्सीन और टेस्ट और रिजल्ट जैसे संबधित चीजों के लिए जानाकरी सही जगह से ले। डब्ल्यूएचओ ने लोगों को साइबर हमलें से बचने की भी सलाह दी है।

Most Popular

To Top