आज पहली बार मनाया जाएगा इस सरहदी सूबे में संविधान दिवस

0
15

ब्यूरो डेस्क। सरहदी सूबे जम्मू-कश्मीर से विवादित अनुच्छेद 370 व 35ए को हटाए जाने के बाद 26 नवम्बर को यहां पहली बार संविधान दिवस मनाया जाएगा। गौरतलब है कि भारतीय संविधान 26 जनवरी 1950 को देश में अमल में आया था, लेकिन इसे 26 नवम्बर को लागू किया गया था। सूत्रों का कहना है कि संघ शासित जम्मू-कश्मीर के सभी सरकारी दफ्तरों व संस्थानों में भारतीय संविधान की प्रस्तावना पढ़ी जाएगी। 

बता दें कि यह कार्यक्रम केंद्र सरकार के निर्देश पर किया जा रहा है। सूत्रों का कहना है कि इस संबंध में संघ शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर के प्रशासन ने एक आदेश भी निकाला है, जिसमें नागरिक सचिवालय में मौजूद अफसरों व कर्मचारियों को मंगलवार को भारतीय संविधान की शपथ दिलाते हुए उसके महत्व पर रोशनी डाली जाएगी।

बताते चलें कि मौजूदा वक्त में नागरिक सचिवालय शीतकालीन राजधानी जम्मू में है, परंतु पहली बार होने जा रहे इस कार्यक्रम की बाबत प्रशासन की ओर से जम्मू व कश्मीर के मंडालायुक्तों के अलावा विभागीय प्रमुखों, पुलिस प्रशासन, शिक्षण संस्थाओं सहित अन्य तमाम सरकारी दफ्तरों व अफसरों को निर्देश दिए गए हैं। इस अहम कार्यक्रम के लिए कानून, न्याय तथा संसदीय मामलों के विभाग को नोडल अफसर बनाया गया  है।