MAU: कांग्रेस ने मुख्यालय पर किसानों के विभिन्न मुद्दों को लेकर किया प्रदर्शन 

0
6

मऊ। यूपी में किसानों के विभिन्न मुद्दों को लेकर कांग्रेस ने प्रदेश और केंद्र सरकार को घेरना शुरू कर दिया है। बुधवार को कांग्रेस पार्टी द्वारा प्रदेश स्तरीय धरना प्रदर्शन किया गया। कांग्रेस पार्टी द्वारा जिला मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन किया गया, जिसमें गन्ना किसानों का बकाया भुगतान करने की मांग की गई। साथ ही प्रदेश में पराली जलाने को लेकर किसानों पर किए गए मुकदमे वापस लेने की मांग की गई। बता दें कि प्रदूषण के मुद्दे पर एनजीटी और सुप्रीम कोर्ट की सख्ती के बाद यूपी सरकार को चेतावनी भी दी थी। वहीं प्रदेश में विभिन्न जिलों में पराली जलाने वाले किसानों पर मुकदमे दर्ज किए गए हैं। इसके साथ ही पराली जलाने से रोकने में नाकाम लेखपालों को निलंबित भी किया गया है। 

यूपी के जनपद मऊ में जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष इन्तखाब आलम ने कहा कि यूपी के सभी जिला मुख्यालयों पर किसानों के विभिन्न मुद्दों को लेकर कांग्रेस धरना प्रदर्शन कर रही है। उनकी मांग है कि किसानों के गन्ने का बकाया भुगतान जल्द से जल्द हो साथ ही गन्ने का समर्थन मूल्य प्रति कुंटल 450 रूपए किया जाए। सरकार किसानों की आमदनी दोगुना करने की बात कर रही है लेकिन किसानों की स्थिति ऐसी हो गई है कि जल्द ही खेती छोड़ देंगे। छुट्टे पशुओं से फसल बर्बाद हो रही है, फसल की निगरानी करने के लिए रात रात भर जगना पड़ता है।

कांग्रेस राज में 50 किलो मिलने वाली खाद की बोरी अब 45 किलो की मिलती है। यह किसानों के साथ बेईमानी है। प्रदेश में व्यापक स्तर पर धान खरीद में अनियमितता की जा रही है। एक तरफ पंजाब सरकार किसानों को पराली न जलाने के लिए प्रति एकड़ 25 सौ रूपए दे रही है, वहीं दूसरी ओर यूपी में किसानों के ऊपर मुकदमे दर्ज हो रहे हैं। जिले में नहरों में पानी नहीं है, चीनी मिल अरबों रुपए के घाटे में चल रही है। किसानों का करोड़ों रुपए का बकाया भुगतान नहीं हुआ है। सरकार सरकारी संस्थाओं को घाटे में दिखाकर निजीकरण कर रही है।