सीजेएम कोर्ट में चली ताबड़तोड़ गोली, एक की मौत, बाल-बाल बचे जज

0
44

बिजनौर। यूपी में जंगलराज पूरी तरह से कायम हो चुका है,जिसकी बानगी मंगलवार को बिजनौर के सीजेएम कोर्ट में देखने को मिली। जब पेशी पर लाए गए तीन अभियुक्तों पर कोर्ट में शार्प शूटरों ने ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दी। इस हमले में पेशी पर लाये गए एक अभियुक्त की मौत हो गई, जबकि बाकी अभियुक्त के मौत की पुष्टि अभी नहीं हुई है। वहीं जब्बार भाग निकला। पुलिस जब्बार की तलाश में जुटी है। 

वहीं मोहर्रिर भी गोली लगने से घायल हो गया है। हमलावरों ने ताबड़तोड़ 20 राउंड फायरिंग की,जिसमें सीजेएम योगेश कुमार बाल-बाल बच गए। घटना के बाद से पूरे कोर्ट परिसर को सील कर दिया गया है और भारी पुलिस फ़ोर्स की तैनाती कर दी गयी है। बता दें कि बीते 28 मई को प्रापर्टी डीलर हाजी एहसान व उनके भांजे शादाब की नजीबाबाद में गोलियां बरसाकर हत्या कर दी गई थी। इस मामले में गांव कनकपुर निवासी शूटर दानिश सहित कई लोगों को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है। वहीं दिल्ली पुलिस ने गैंग के सरगना शाहनवाज व शूटर अब्दुल जब्बार को गिरफ्तार किया था। हत्या की साजिश में शामिल शूटर इकरार, अफजाल ,दानिश उर्फ़ सोनू ,आसिफ, असलम और इरशाद को पुलिस ने दबिश देकर गिरफ्तार किया था। इन आरोपियों के पास से एक तमंचा,दो कारतूस बरामद हुए थे।

मंगलवार को तीन आरोपियों शाहनवाज, जब्बार और दानिश को पुलिस इस मामले में पेशी के लिए सीजेएम कोर्ट में लायी थी। इसी बीच सुनवाई के दौरान कोर्ट के भीतर हमलावरों ने पेशी के लिए लाये गये अभियुक्तों को निशाना बनाते हुए उन पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दी, जिसमें दो की मौत हो गई और एक की मौत की पुष्टि अभी तक नहीं हो सकी है। इस घटना ने एक बार फिर यूपी पुलिस को सवालों के घेरे में लाकर खड़ा कर दिया है कि जब कोर्ट और न्यायाधीश ही सुरक्षित नहीं हैं, तो आमजन का क्या हाल होगा।