रायबरेली के फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलेगा मुकदमा, चार्जशीट दाखिल 

0
45

लखनऊ। उन्नाव पुलिस ने दुष्कर्म पीड़िता को जिंदा जला देने के मामले में रायबरेली कोर्ट में चार्जशीट चार दिन में दाखिल कर दी है। लालगंज कोतवाल विनोद सिंह का कहना है कि आरोपी शुभम फरार चल रहा था, इसलिए उसके खिलाफ 174ए का मुकदमा दर्ज किया है।

रायबरेली के एसपी स्वप्निल मगमई के अनुसार, केस फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलेगा और मामले की सुनवाई रायबरेली कोर्ट में ही चलेगी। बता दें कि दो आरोपितों में से एक के घटना के दिन अस्पताल में भर्ती होने की बात को सुमेरपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के डॉक्टरों ने बुधवार को पूरी तरह से खारिज कर दिया। सूत्रों के हवाले से ये बात भी सामने आई कि एक आरोपी शुभम त्रिवेदी सुमेरपुर प्राथमिक स्वास्थ्य  केंद्र में 10 दिसम्बर 2018 को भर्ती था। उसे पांच दिन बाद केंद्र से छुट्टी मिली थी। केंद्र के प्रभारी से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने बताया, मैंने अगस्त 2019 में चार्ज लिया है, मामला 2018 दिसम्बर का बताया जा रहा है। जिस मामले की बात हो रही है वह मीडिया के माध्यम से ही सामने आया है।

वहीं बुधवार की सुबह लगभग 7 बजे पीड़ित परिवार के लोग पीड़िता की समाधि स्थल पर पहुंचे और आरोपियों को त्वरित फांसी दिलाने तथा मुख्यमंत्री को मौके पर आने की मांग करने लगे। पीड़िता के परिजनों को एसडीएम बीघापुर दयाशंकर पाठक व क्षेत्राधिकारी अंजनी कुमार राय समझाने पहुंचे। पीड़िता के परिजन सीएम योगी को गांव आकर मुलाकात करने व आरोपितों को तत्काल फांसी दिये जाने की मांग की है।