BHU के छात्रों ने पर्यावरण संरक्षण के लिए उठाया ये कदम

0
24

रिपोर्ट- अनुज जायसवाल

वाराणसी। प्राचीन व जीवंत नगरी काशी ने हमेशा से ही देश-दुनिया को राह दिखाई है। यह शहर हमेशा से बौद्धिक पहल करता आ रहा है। ऐसे में इन दिनों अस्सी घाट के समीप बीएचयू के छात्रों ने मिलकर एक अनूठी पहल शुरू की हैं। जो काशिवासियों के ह्दय में पर्यारण संरक्षण की अलख जगा रही हैं। जी हां, बात अस्सी घाट के नजदीक बने मुफ्त टिनी लाइब्रेरी व ‘मुफ्त ट्री लाइब्रेरी’ की हो रही है, जहां से आप मुफ्त किताबें ले सकते है और बदले में अपनी पूरानी किताबें यहां छोड़ सकते हैं। साथ ही ट्री लाइब्रेरी से आप को एक पौधा मुफ्त दिया जाएगा, जिसका आप रोपण कर के पर्यावरण संरक्षण का संदेश दे सकते हैं।

पर्यावरण जागरूकता के लिए युवाओं के एक समूह ने ऐसा ही नजारा पेश किया है। जो काशी की दम घोट रही हवा को जिंदा काम करने का काम कर रहे हैं। बीएचयू के मंच कला संकाय के शोध के छात्र संदीप मुखर्जी ने अपने हेल्पिंग वर्ब फाउंडेशन के माध्यम से खुद के पैसे पर लाइब्रेरी का निर्माण किया है, जिसमे निशुल्क किताब मुफ्त मे प्राप्त कर सकते है।

शोध के छात्र सन्दीप मुखर्जी ने बताया कि हमारा उद्देश्य लाइब्रेरी के माध्यम से शब्द संस्कृति को बचाने के साथ ही पर्यावरण को भी बचाना है। जो लोगों के पास किताबें धूल फांक रही है। उसे यहां छोड़कर जाए, जिसका हम सदुपयोग कर सकते है।