BHU: रिहाई नहीं तो डिग्री नहीं

0
40

वाराणसी। बीएचयू के दीक्षांत समारोह में सीएए और एनआरसी का विरोध करते हुए जहां एक छात्र ने डिग्री लेने से इंकार कर दिया ,वहीं छात्र और छात्राओं ने गिरफ्तार छात्रों को जल्द से जल्द रिहा करने की मांग किया है। 

बता दें कि बनारस में कुल 69 लोग जेल में हैं, जो शांतिपूर्ण सीएए और एनआरसी का विरोध कर रहे थे, जिसमें करीब 20 छात्र बीएचयू से हैं जो 19 दिसंबर से जिला जेल में बंद है। बनारस के सेशन कोर्ट ने इनकी जमानत याचिका खारिज कर दी है।

बीएचयू के 101वें दीक्षांत में आज  हिस्ट्री ऑफ आर्ट्स के छात्र रजत सिंह ने सीएए मामले में बनारस में हुई गिरफ्तारियों के विरोध में अपनी डिग्री लेने से मना कर दिया। उनकी मांग है कि बनारस में शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे 70 लोगों को पुलिस ने जेल भेज दिया था, जिसमें बीएचयू के कई छात्र भी इस समय जिला जेल में बंद हैं। वहीं छात्रों को डराने के लिए फर्जी मुकदमें लगाए गए हैं, जो कि न्यायसंगत नहीं है। सभी छात्रों ने एक सुर में जेल में बंद छात्रों को जल्द से जल्द रिहा करने की मांग की है।