BHU प्रोफेसर विवाद: नियुक्ति का विरोध कर रहे छात्रों का अविमुक्तेश्वरानंद ने किया समर्थन

0
26

रिपोर्ट- प्रभात गौंड

वाराणसी। बीएचयू के संस्कृत धर्म विद्या संकाय में डॉक्टर फिरोज की नियुक्ति को लेकर 14 दिनों से संस्कृत के छात्र कुलपति आवास के बाहर धरने पर बैठे हुए हैं। छात्रों की लगातार मांग है कि फिरोज खान की नियुक्ति रद्द की जाए। इसके लिए छात्रों ने हनुमान चालीसा से लेकर रूद्राभिषेक तक किया हैं। वहीं धरनारत छात्रों से मिलने गुरूवार को स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद बीएचयू पहुंचे।

स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने कहा कि हम सनातन धर्म से हैं। हम सबका सम्मान करते हैं। काशी हिंदू विश्वविद्यालय में फिरोज खान की नियुक्ति को लेकर हमें कोई आक्रोश व्यक्त नहीं करते है और हम उनका विरोध भी नहीं कर रहे हैं। बात यहां सिर्फ धर्म की ही नहीं, ब्लकि मदन मोहन मालवीय के विचारों की भी हैं।

अविमुक्तेश्वरानंद ने कहा कि महामना ने बीएचयू में सबसे पहले संस्कृत धर्म विद्या संकाय भवन को बनवाया था, इससे धर्म की रक्षा की जा सकें और आज ये विश्वविद्यालय महामना के विचारों को मानने को तैयार नहीं है। वहीं छात्रों का कहना है कि हमारी मांगे नहीं मानी गई तो हम सुप्रीम कोर्ट तक जाएंगे।