वाराणसी

ऐपवा ने कैंट रेलवे स्टेसन पर प्रदेश सरकार के खिलाफ किया विरोध प्रदर्शन,उत्तर प्रदेश सरकार महिलाओं को सुरक्षा देने में विफल

वाराणसी। देश में बलात्कार और हत्या लगातार बढ़ता जा रहा हैं। अक्सर कहीं ना कहीं बलात्कार और हत्या का मामला सुननें को मिल ही जाता हैं वहीं बदायूं गैंग रेप और हत्या मामले ने निर्भया कांड की याद दिला दी । राज्यव्यापी प्रदर्शन के दौरान आख़िल भारतीय प्रगतिशील महिला एसोसिएशन की महिलाओं ने कैंट रेलवे स्टेशन, वाराणसी में प्रदेश सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया।

ऐपवा की प्रदेश सचिव कुसुम वर्मा ने कहा कि बदायूं की मृत आगनबाड़ी महिला कर्मी के शोक संतृप्त परिवार के साथ हम गहरी संवेदना व्यक्त करते हैं। जनदबाव में आकर घटना के पाँच दिन बाद फरार अपराधियों की गिरफ्तारी तो हुई हैं। लेकिन हमारी मांग हैं यह हैं कि अपराधियों पर फास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकदमा चला कर कड़ी से कड़ी सजा की गांरन्टी दी जाए। कुसुम वर्मा ने कहा कि बदायूँ घटना को लेकर राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्य चंद्रमुखी देवी द्वारा बलात्कार की शिकार महिला (जिसकी मौत हो चुकी है) को ही खुद जिम्मेदार ठहराने वाला सार्वजनिक रूप से महिला विरोधी बयान देना राष्ट्रीय महिला आयोग की गरिमा के खिलाफ हैं। हम मांग करते है कि चंद्रमुखी देवी की राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्यता खारिज की जाए।

साथ ही उन्होनें कहा कि पूरे मामले में पुलिस की भूमिका अपराधियों का संरक्षण करने की रही हैं। योगी सरकार उत्तर प्रदेश में महिलाओं को सुरक्षा देने में अब तक के सबसे विफल मुख्यमंत्री साबित हुए हैं। उन्हें  मुख्यमंत्री पद पर बने रहने का कोई अधिकार नहीं हैं। हम उनके इस्तीफे की मांग करते हैं।

Most Popular

To Top