जौनपुर

CM योगी के तिजोरी से निकला एक और नायाब खजाना, ये जिलाधिकारी बने पूरे प्रदेश के रोल मॉडल

जौनपुर।पूरे यूपी में वरासत कानून लागू होगा और वरासत कानून जौनपुर से लिया जायेगा,ऐसा कहना है सीएम योगी का। जी हां इस पूरे काम का श्रेय जौनपुर के कर्मठ जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह को जाता है,जिन्होंने कोविड-19 से लड़ते हुए जिले के मौलिक समस्याओं पर भी ध्यान दिया, जिसका नतीजा रहा कि सीएम योगी ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा पूरे प्रदेश में ये मॉडल लागू करने की बात कही।आइये जानते हैं कि ऐसा क्या किया डीएम जौनपुर ने कि सीएम योगी ने डीएम दिनेश कुमार सिंह को रोल मॉडल बना दिया।

बता दें कि जौनपुर में बहुत समय से ही भूमि विवाद के मामले बड़ी संख्या में है,कमोवेश इस तरह की समस्या पूरे प्रदेश में है। यह समस्या है वारिसों का नाम भूमि पर समय से दर्ज नहीं हो पाना । डीएम दिनेश कुमार सिंह ने जिले में कार्यभार संभालते ही वरासत के मामलों को प्राथमिकता से निपटाने के निर्देश दिए। जहां अक्तूबर से दिसंबर तक अभियान के दौरान 15770 कृषक मृतक तस्दीक हुए थे, जिनके 45215 वारिसों के नाम खतौनी में दर्ज करके कंप्यूटर पर चढ़ाकर कंप्यूटराइज्ड खतौनी निकालकर उनके घरों पर जाकर उपलब्ध कराया गया था।

इस अभियान का असर रहा कि भूमि विवाद के मामले तो निपटे ही सरकारी योजनाएं भी पात्रों तक पहुंची। इसके दूसरे चरण का अभियान भी सितंबर में शुरू किया गया है। गौरतलब है कि शनिवार को जिले में मुख्यमंत्री के आगमन के दौरान डीएम ने इस मॉडल की प्रस्तुति दी थी, जिसे मुख्यमंत्री ने सराहा। रविवार की रात वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान सीएम ने वरासत के जौनपुर मॉडल की चर्चा करते हुए इसे पूरे प्रदेश में लागू करने का निर्देश दिया। वहीं डीएम दिनेश कुमार सिंह ने इसका श्रेय इस कार्य में लगे सभी राजस्व लेखपालों, कानूनगो, तहसीलदार व एसडीएम को दिया है। साथ ही इस काम को और तेज़ी से पूरा करने का वादा भी किया है।

Most Popular

To Top