अपना प्रदेश

MAU: डीएम और एसपी सहित जब जिले के सभी अधिकारी गाने लगे गाना…

मऊ। पुलिस लाईन में मंगलवार को देर शाम तक चलने वाले आयोजित कार्यक्रम पुरस्कार वितरण समारोह में सराहनीय कार्य करने वाले निरीक्षक, उपनिरीक्षक, मुख्य आरक्षी एवं आरक्षी पुलिसकर्मियों को सम्मानित किया गया। इस दौरान पुलिसकर्मियों ने मंच पर एक से बढ़कर एक देशभक्ति, साहस कर्तव्यनिष्ठा की भावना से भरे हुए गीत गाए। इस कार्यक्रम में बड़ा खाना का आयोजन किया गया था,जिसमें मऊ के एसपी अनुराग आर्या ने सबको भोजन परोसा जिसे सबने सराहा। वर्दीधारी पुलिसकर्मियों और प्रशासनिक अधिकारियों को कर्त्तव्यनिष्ठता और देशभक्ति की भावना का बोध प्रशिक्षण के दौरान कराया जाता रहता है। जो गाहे-बगाहे उनके द्वारा किये गए कार्यं में भी दिख जाता है। ड्यूटी के दौरान कुछ ऐसे ही पुलिसकर्मियों को जिले के एसपी और डीएम ने प्रशस्ति पत्र और शिल्ड से सम्मानित किया। 

बता दें कि पुलिस लाईन में मंगलवार को देर शाम तक चलने वाले आयोजित कार्यक्रम पुरस्कार वितरण समारोह में सराहनीय कार्य करने वाले निरीक्षक, उपनिरीक्षक, मुख्य आरक्षी एवं आरक्षी पुलिसकर्मियों को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में उप निरीक्षक राजन मौर्य द्वारा ‘दिल दिया है जान भी देंगे ए वतन तेरे लिए’ गीत प्रस्तुत किया वहीं इस गीत पर देश भक्ति की भावना से लबरेज होकर जिले के पुलिस कप्तान भी उनका साथ देने लगे। उन्होंने जिलाधिकारी ज्ञान प्रकाश त्रिपाठी और अन्य अधिकारियों को भी साथ लाकर गीत गाकर समा को बांध दिया। पुरस्कार वितरण एवं सम्मान समारोह के बाद बड़ा खाना का आयोजन किया गया जिसमें, जिले के अधिकारियों ने निचले रैंक के पुलिसकर्मियों को खाना परोसा. उसके बाद सबसे अंत में खुद भोजन ग्रहण किया।

पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य ने बताया कि पिछले 5 महीनों के दौरान ड्यूटी में जिन पुलिसकर्मियों ने सराहनीय कार्य किया है उन्हें आज सम्मानित किया गया।  जिले को संवेदनशील जिला माना जाता है ऐसे में यहां त्यौहार और चुनाव संपन्न कराना किसी चुनौती से कम नहीं होती। इस चुनौती को हमने सकुशल पार पा लिया और सौहार्द के साथ जिले में सभी त्यौहार मनाए गए। पुलिसकर्मियों ने सराहनीय कार्य किए साथ ही अपराधिक गैंग से जुड़े बदमाशों का एनकाउंटर और कार्रवाई की गई। अपराधियों के विरुद्ध कार्रवाई करने में जो आरक्षी, मुख्य आरक्षी, उप निरीक्षक, निरीक्षक और पुलिस अधिकारी शामिल थे उनको सम्मानित किया गया। 40 पुलिसकर्मियों को जिले के सर्वश्रेष्ठ पुलिसकर्मियों के रूप में चिन्हित किया गया जिन्हें सम्मानित किया गया। 10 पुलिसकर्मियों को ड्यूटी में सराहनीय कार्य करने के लिए श्रेष्ठ पुरस्कार से सम्मानित किया गया। ऐसे कार्यक्रम का उद्देश्य है पुलिस कप्तान के साथ पुलिसकर्मियों की टीम को बेहतर बनाना।

Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

Most Popular

To Top