अपना प्रदेश

जर्जर तार टूटने से हुआ हादसा, आक्रोशित ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन

वाराणसी। बडागांव थानाक्षेत्र के विद्युत विभाग की लापरवाही के चलते 11000 का जर्जर हाई टेंशन तार गिर गया। जिससे लोगों के घरों के टी वी, पंखे और बल्ब सहित इलेक्ट्रानिक उपकरण  जलने लगे। जलते हुए सामानों को बचाने के लिए घर के अंदर दौड़ी चार महिलाएं और एक युवक करंट से झुलस गए। झुलसे हुए युवक की हालत गंभीर बनी हुई है, जिसका इलाज  निजी अस्पताल में चल रहा है। घटना से आक्रोशित ग्रामीणों ने विद्युत उप केंद्र पर धरना प्रदर्श किया साथ ही विद्युत् विभाग को लेकर नारेबाजी भी किया। 

जानकारी के अनुसार उपरोक्त गांव में आबादी के उपर से 11000 बोल्ट का काफी पुराना हाई टेंशन तार गुजरा हुआ है। इसी के ठीक नीचे से लोगों के घरों में विद्युत आपूर्ति के लिए 440 बोल्ट का तार फैलाया गया है। ग्रामीणों का आरोप है कि हाई टेंशन तार काफी जर्जर होकर कई  बार टूट चुका है। इस तार को बदलने के लिए उपकेंद्र के कर्मचारियों और अधिकारियों को लिखित और मौखिक सूचना कई बार दिया गया, लेकिन आज तक तार नहीं बदला गया।

वहीं हाई टेंशन तार के सप्लाई तार पर गिरते ही धनंजयपुर गांव के कई घरों में टी वी पंखे धू धू कर जलने लगे, सामानों को बचाने के लिए लोग घर में भागें , जिसमें चार महिलाएं आंशिक रूप से झुलस गयी, वहीं सुजीत नामक व्यक्ति गंभीर रूप से झुलस गया जिसकी हालत चिंताजनक बनी हुई है।

घटना से आक्रोशित अकोढ़ा, मझगवां, अनेई एवं सिसवां सहित दर्जनों आसपास के गांवों के लोग जर्जर तार को बदलने के मांग के साथ ही विद्युत उपकेंद्र पर धरना प्रदर्शन करने लगे। धरना-प्रदर्शन में ग्राम प्रधान धनंजय पुर विजय पांडेय, प्रधान सिसवां सुशील मिश्रा, प्रधान मझगवां संदीप, प्रधान अकोढ़ा भीम सिंह विनय मिश्रा विनीत शुक्ला एवं अद नेता सुनील पटेल सहित सैकड़ों ग्रामीणों ने धरना-प्रदर्शन में भाग लिया।

Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

Most Popular

To Top