BHU: दीक्षांत समारोह में 732 पीएचडी उपाधियों का हुआ वितरण, 11529 को प्रदान की गयी डिग्रियां 

0
87

रिपोर्ट- प्रभात

वाराणसी। काशी हिंदू विश्वविद्यालय का 101वां दीक्षांत समारोह स्वतंत्रता भवन में सोमवार को आयोजित हुआ। बीएचयू के दीक्षांत समारोह में शिक्षा संकाय के प्रो. सुनील कुमार सिंह व सामाजिक विज्ञान संकाय के डॉ. विमल कुमार लहरी को डी. लिट. की उपाधि प्रदान की गई। प्रो. सुनील कुमार सिंह के डी. लिट. शोध का विषय महामना के विचार व योगदान पर आधारित था, जबकि डॉ. लहरी का डी. लिट शोध संत रविदास के सामाजिक दर्शन पर केन्द्रित रहा। विश्वविद्यालय के स्वतंत्रता भवन में आयोजित हुए दीक्षांत समारोह में राष्ट्रीय लोक वित्त और नीति संस्थान, नई दिल्ली के अध्यक्ष डॉ विजय केलकर, मुख्य अतिथि के रूप में दीक्षांत भाषण दिये। दीक्षांत समारोह सुबह 10 बजे से आरम्भ हुआ।

101वें दीक्षांत समारोह में मंच से दो चांसलर पदक, दो स्वर्गीय महाराजा विभूति नारायण सिंह स्वर्ण पदक और 29 बीएचयू पदक प्रदान किया गया। संस्कृत विद्या धर्म विज्ञान संकाय के श्री शिवार्चित मिश्रा को वर्ष 2019 की समस्त स्नातकोतर परीक्षाओं में सर्वोच्च संचयी ग्रेड प्वाइंट औसत (सी.जी.पी.ए.) प्राप्त करने के लिए चांसलर पदक व स्व0 महाराजा विभूति नारायण सिंह स्वर्ण पदक तथा आचार्य वेद (शुक्ल यजुर्वेद) परीक्षा 2019 में प्रथम स्थान पाने पर बी.एच.यू. पदक प्रदान की गई।

इसी प्रकार, संस्कृत विद्या धर्म विज्ञान संकाय के ही श्री अमन कुमार त्रिवेदी को वर्ष 2019 की समस्त स्नातक परीक्षाओं में सर्वोच्च संचयी ग्र्रेड प्वाइंट औसत (सी.जी.पी.ए.) प्राप्त करने पर चांसलर पदक व स्व0 महाराजा विभूति नारायण सिंह स्वर्ण पदक तथा शास्त्री (आनर्स) परीक्षा 2019 में प्रथम स्थान पाने पर बी.एच.यू. पदक भी प्रदान किया गया। कुल 29 छात्रों को दीक्षांत समारोह में मंच से पदक प्रदान किये गये। संकाय स्तर पर कुल मिलाकर 508 छात्रों को स्नातक व स्नातकोत्तर परीक्षाओं के लिए पदक व पुरस्कार दी गई। कार्यक्रम का समापन राष्ट्रगान से किया गया।